Love Shayari Two Line in Hindi | दो लाइन लव शायरी हिन्दी मे

आज मैं आप सब के लिए कुछ दो लाइन लव शायरी, Best Love Shayari Two Line का एक खूबसूरत कलेक्शन लेकर आये हैं। हमें पूरी उम्मीद हैं, आपको यह जरुर पसंद आएगा। अगर आपको हमारा यह Beautiful Hindi Love Shayari का संग्रह पसंद आये तो इसे अपने उस दोस्त को जरुर शेयर करे, और कमेंट बॉक्स मे अपना राय दे।

Love Shayari Two Line

तेरी आवाज़ सुनने को तरसे है मन मेरा,
तेरी एक झलक पाने को बेकरार है मन मेरा,🤞🤞

 

अपनी कलम से दिल से दिल तक की बात करते हो,
सीधे सीधे कह क्यों नहीं देते हम से प्यार करते हो।🤞🤞

 

क्यूं करते हो मुझसे इतनी खामोश मोहब्बत,
लोग समझते है इस बदनसीब का कोई नहीं।🤞🤞

 

तुम पूछ लेना सुबह से, न यकीन हो तो शाम से
ये दिल धड़कता है तेरे ही नाम से।🤞🤞

 

क्या कहे क्या… कहर हैं…. साहब….
उसकी जुल्फे ही नहीं..उसकी आंखें भी जहर है साहब…

 

ग़लतफ़हमी की गुंजाइश ही नहीं सच्ची मोहब्बत में,
जहाँ किरदार हल्का हो, कहानी डूब ही जाती है.!🤞🤞

 

मेरी उम्र भी लग जाये उसे
मेरा दिल लगा है जिस से🤞🤞

 

तुम आशिक़ हो,, जाओ जाकर अपना इश्क़ संभालो ..
हम शायरी करते है लफ़्ज़ों से इश्क़ जला देंगे..!!

 

अजीब हाल है दिल का, तूझसे ही बाते करना चाहता है.
तेरी ही,शिकायत करने को दिल करता है🤞🤞

 

कुछ अलग सा चल रहा है अपनी मोहब्बत का हाल,
उनकी चुप्पी और मेरे कई सवाल…🤞🤞

 

Love Shayari Two Line in Hindi

इंसान को कभी अपने वक्त पर घमंड नहीं करना
जिंदगी है साहब छोड़ कर चली जाएगी
मेज पर होगी तस्वीर कुर्सी खाली रह जाएगी।🤞🤞

 

प्यार किससे कब हो जाये अंदाज़ा नहीं होता,
ये वो घर है जिसका कोई दरवाज़ा नहीं होता..🤞🤞

 

वो आयी थी मेरे हिस्से में थोड़ा
मगर थोड़ा मुझे बिलकुल पसंद नहीं है_!!🤞🤞

 

सुबह उठते ही मेरे जिस्म से आ रही थी तेरी ही खुशबू.
शायद रात भर ख्वाब में तूने मुझे सीने से लगाई होगी.!

 

निहारते हुए गुजारेंगे फिर सारी रात हम उनका क्या है.
सो जाएगी_Dp_नई लगा कर___!!

 

एक शख्स ऐसा भी है दुनिया में,
जो अपने घर से ज्यादा मेरे जहन में रहता है…..

 

रूह की तलब हो तुम…
कैसे कहूँ मुझसे अलग हो तुम ..🤞🤞

 

सजा बन जाती है गुजरे वक्त की निशानियां…
अब बताओ कैसे दुहराऊं वही बिखरी हुई कहानियां…

 

एक उमर बीत चली है उन्हें चाहते हुए,
वो आज भी बेखबर है कल की तरह. 🤞🤞

 

लड़की का जरा सा दुपट्टा सरकने पर अपनी आंखे झुका लेते है…
कुछ लड़के बिना कुछ कहे अपने संस्कार दिखा देते है…

 

Love Shayari Two Line

आजकल तेरी तस्वीर से बात होती है,
वो बिना बोले मेरी हर बात मान लेती है..🤞🤞

 

दुआओ में मांग लूँ वो मन्नत हो तुम,
जिसे हम अपने दिल मे रखते हैं वो चाहत हो तुम।।🤞🤞

 

मेरे दर्द को भी कोई आधार कार्ड से जोड़ दो ..
मुझे मिल गया उसे दर्द कभी ना मिले…🤞🤞

 

तुम्हारे पास ही तो हैं ज़रा ख्याल करके देखो,,
आँखों की जगह दिल का इस्तेमाल करके तो देखो..

 

इक्कीस मे ना सही बाइस मे ही सही
तुम बस बने रहना ख्वाहिश मे ही सही..🤞🤞

 

गुलाब जैसी हो, गुलाब लगती हो….
हल्का सा भी मुस्कुरा दो तो,लाज़वाब लगती हो.🤞🤞

 

तुमको जी भर के गर देख भी लूं
मसला तो ये है की जी भरेगा क्या..🤞🤞

 

बेखौफ़ सी रह जाती है ये दिल की बस्ती …
कितने चुपचाप चले जाते हैं, जाने वाले …🤞🤞

 

तुमसे ही रूठ कर तुम्हें ही सोचते रहना…!!
मुझे तो ठीक से नाराज़ होना भी नहीं आता…!🤞🤞

 

उस दिल की बस्ती में आज अजीब सा सन्नाटा है…,
जिस में कभी तेरी हर बात पर महफिल सजा करती थी।

 

Two Line Love Shayari 

क्या दस्तखत दूँ अपनें वजूद का ,…
किसी के जहन में आऊँ,
और वो मुस्कुरा दे बस यही काफी है…!!

 

नाम तेरा मेरी जुबाँ पे खुद ही आ जाता है…,
जब मुझसे कोई मेरी आखरी ख्वाहिश पुछता है।

 

एक तू है जो पराया नही लगता है,
वरना सारा शहर सुनसान लगता है।।

 

अगर कोई एक लफ्ज में मेरी हर खुशी पूछे…!!
तो मैं तेरे नाम के सिवा कुछ और ना कहूँ…!!!

 

किसी को मुफ़्त में मिल गया वो शख्श,
जो हमें हर कीमत में चाहिए था।।

 

यहाँ किसी को भी कुछ आरज़ू के मुताबिक़ न मिला,
किसी को हम न मिले…और हम को तू न मिला।

 

जीने के लिए तू भी साथ चाहिए,
सांसों का क्या वो तो साथ चलती ही है।।

 

आसमां में खलबली है सब यही पूछ रहे हैं,
कौन खड़ा है ये ज़मीं पे चाँद सा चेहरा लिए।

 

खुशबू सी नज़र आई है तेरी,
शायद यादों ने दस्तक दी है तेरी।।

 

उसकी फ़ितरत ही नहीं थी ईश्क़ निभाने की,
और हम अपने नसीब को कोसते रहे।

 

Two Line Love Shayari Hindi

सुना था पर यकीन हो गया,
खूबसूरत इश्क़ दर्द ही देता है।।

 

हाल तो पूछ लूँ तेरा पर डरता हूँ आवाज़ से तेरी,
जब जब सुनी है कमबख्त मोहब्बत ही हुई है।

 

मोहब्बत करना कोई हमसे सीखे,
जिसे टूटकर चाहा वो अबतक बेखबर है।

 

उम्मीद ना कर इस दुनिया में हमदर्दी की…
बड़े प्यार से जख्म देते है…शिद्दत से चाहने वाले।

 

मुझे मंज़ूर थे वक़्त के हर सितम मगर…,
तुमसे बिछड़ जाना ये सज़ा कुछ ज़्यादा हो गई।

 

न जाने कितने कपड़े अल्मारी में लटके रह गए,
तेरा बिछड़ना मेरी जवानी के शौक़ खा गया ।

 

गलतफहमी की गुंजाईश नहीं सच्ची मोहब्बत में,
जहाँ किरदार हल्का हो कहानी डूब जाती है।

 

उसे हम छोड़ दें लेकिन बस इक छोटी सी उलझन हैं,
सुना है दिल से धड़कन की जुदाई मौत होती है।

 

मोहब्बत एक खुशबू है हमेशा साथ रहती है,
कोई इंसान तन्हाई में भी कभी तन्हा नहीं रहता।

 

वो तो खुशबू है हवाओं में बिखर जाएगा,
मसला फूल का है फूल किधर जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.