Khubsurti Ki Tareef Shayari in Hindi | खूबसूरती की तारीफ शायरी

Khubsurti ki Tareef Shayari in Hindi | खूबसूरती की तारीफ शायरी इन हिंदी फॉर फ्रेंड | Khubsurti ki Tareef Shayari 2 Line | खूबसूरती की तारीफ पर शायरी.

Khubsurti ki Tareef Shayari in Hindi

जरा सी देर के लिए सब कुछ भुला के देख लेते है
तुन्हे हम सामने बैठा कर देख लेते है
वो चेहरे कैसे होते है की जिनसे चाँद शर्माए
जरा तेरे चेहरे से जुल्फे हटा कर देख लेते है.

 

ख़डा हु तेरे कुचे मे शायरी तो बस बहाना हे
ये मेरी जाने तमन्ना तुझको तो बस छत पर बुलाना हे…

 

तेरा हुस्न एक जवाब,मेरा इश्क एक सवाल ही सही
तेरे मिलने कि ख़ुशी नही,तुझसे दुरी का मलाल ही सही
तू न जान हाल इस दिल का,कोई बात नही
तू नही जिंदगी मे तो तेरा ख़याल ही सही.

 

चुपचाप गुज़ार देगें तेरे बिना भी ये ज़िन्दगी
लोगो को सिखा देगें मोहब्बत ऐसे भी होती है.

 

ज़िन्दगी में मैंने कितना वक्त बर्बाद कर दिया,
उसकी खुशी के लिए उसको आबाद कर दिया,
उसको तो ज़रूरत थी मेरा साथ सिर्फ कुछ पल के लिए,
और मैंने कमबख्त अपनी पूरी ज़िन्दगी उसके
नाम कर दिया…।

 

समन्दर सी भरी आँखों में काजल लगानेसे क्या होगा,
इतना ना सजाओ खुद को,
वरना आईना भी आपका दीवाना होगा..!!

 

Husn ki Tareef Shayari in Hindi

जाने कहा खो गयी वो हंसी जो तेरे आने से आ जाती थी….
करता तो में बहुत था तुमसे प्यार फिर तुम
क्यों इतना इतराती थी…
💔Never Forgot You💔

 

वाह!!क्या दीदार है हुस्न-ए-जाम का❣
वाह!!क्या नसीब है आशिक-ए-आलम का❣
वाह!!क्या चेहरा है चाँदनी-ए-चाँद सा❣

 

आह!!!!इतनी कातिलाना नजर से बचके
आशिक है आपके जरा आँखों को नीचे रखीये
कही मर ना जाये कातिलाना नजर से
इल्जाम भी नही लगेगा इस असर से❤️

 

जरा संभल कर रखना इन हुस्न को बहोत से आशिक़
तरस रहे है पाने इस खूबसूरत अहसास को.

 

Khubsurti ki Tareef Shayari in Urdu

कल रात मैंने अपने सारे ग़म..
कमरे की दीवार पर लिख डाले।
बस फिर हम सोते रहे और दीवारे रोती रही।

 

जिन्दगी के हिसाब किताब भी., बङे अजीब थे…!!
जब तक लोग अजनबी थे ., ज्यदा करीब थे…!!

 

नज़रे करम मुझ पर इतना न कर,
की तेरी मोहब्बत के लिए बागी हो जाऊं,
मुझे इतना न पिला इश्क़-ए-जाम की,
मैं इश्क़ के जहर का आदि हो जाऊं।

 

वो मेरे हाथो की लकीरे देखकर अक्सर मायूस
हो जाती है, शायद, उसे भी एहसास हो गया है
की वो मेरी क़िस्मत मे नही है.

 

वो रोए तो बहुत, पर मुझसे मूह मोड़ कर रोए
कोई मजबूरी होगी तो दिल तोड़ कर रोए
मेरे सामने कर दिए मेरे तस्वीर के टुकड़े
पता चला मेरे पीछे वो उन्हे जोड़ कर रोए.

 

ख्वाहिश नहीं तारीफ़ की किसी यार से,
मुझे तो इश्क़ हो गया, आज अपने श्रृंगार से.

 

सोचा था इस क़दर उन्हे भूल जाएँगे,
देख कर भी अनदेखा कर जाएँगे,
पर जब जब आया सामने उसका चेहरा…
सोचा इस बार देखलेते हे, अगली बार भूल जाएँगे….!

 

Khubsurti ki Tareef Shayari in Hindi

जिंदगी से सिकवा नहीं की उसने गम का आदी बना दिया
गिला तो उनसे है जिन्होंने रौशनी की उम्मीद दिखा
के दीया ही बुझा दिया

 

जब खामोश आँखों से बात होती है,
तो ऐसे ही मोहब्बत की शुरुआत होती है,
तेरे ही ख्यालों में खोये रहते हैं,
न जाने कब दिन और कब रात होती है।

 

खामोश है मेरे दिल की जुबान इन्हें तुम ही तो सुन तो जरा.
लफ्जों की दवा भी थोड़ी सी रख लो जरा.

दिल की खामोशीया ले चली है हमें
वहां न जाने मंजिल कैसी होगी.
मैं तो मुसाफिर हूं
गुजरूगा जहां से दिल की हर कश्ती उसकी होगी.

 

इंसान हँसता तो सबके सामने है,
लेकिन रोता उसी के सामने है जिस पर
उसे खुद से ज्यादा भरोसा होता है !!

 

आज मौसम कुछ नया रंग ले के आया है,
बारिश में हलकी सी धूप ले के आया है,
एक बात समझ नहीं आती दया कि,
आखिर कातिल ने हथियार कहाँ छुपाया है?

जितने भी दिए हैं सितारे जैसे दिए है ✨
कुछ कम ही सही पर सच्चे दिए है ❤️
क़िस्मत पे मेरी मुझको नाज़ क्यों ना हो 🙈
जब भगवान ने मुझे आप जैसा दोस्त दिए है 🥰

 

Sundarta ki Tareef Shayari in Hindi

मर गयीं मेरे लिए मेरे से मत पूछो उसका हाल..
नही तो हो जाएगा इक दिन बहुत बड़ा बवाल

 

अपनी अच्छाई पर इतना भरोंसा रखो कि…
जो तुमहे खोयेगा यकिनन वो रोयेगा…

 

किसी नज्म को भी मैं तेरा नाम दे दूँ,…
पर डरता हूँ हर आशिक वही नज्म गाएगा…

 

मेरी मौत से किसी को फरक पड़े या ना पड़ें …
मेरी तन्हाई जरुर रोयेगी के मेरा हमसफर चला गया…

 

जब से देखा है तेरी आँखो मे झाँक कर,
कोई भी आईना अच्छा नही लगता,
तेरी मोहब्बत मे ऐसे हुए है दीवाने,
तुम्हे कोई और देखे तो अच्छा नही लगता..

 

जब में खुश होता हूँ तो वो भी खुश होता हैं,
में बात आईने की कर रहा हूँ इंसान की नहीं।

 

मेरे दिल के धड़कनों की वो जरूरत सी है,
तितलियों सी नाजुक, परियों जैसी खूबसूरत सी है.

 

ये जो तुम दिल के साफ़ हो ना,
देख लेना दिमाग़ वालों से हार जाओगे।

 

उस लड़के का दुख तुम क्या समझोगे,
जिसे मोहब्बत हो जाए और वो , बेरोजगार हो।

 

दुरियां से दिल नहीं भरा उनका तो
सबसे करीब आकर कहा हम तेरे नहीं ….

 

सुना है…
बहुत लम्बी कतार है तुम्हारे चाहने वालों की,
कभी फुर्सत मिले तो हमें भी याद कर लेना.!!