150+ Dua Shayari in Hindi | दुआ पर बेहतरीन शायरी हिंदी

तो कैसे है आप लोग उम्मीद है अच्छे होंगे। आज के इस पोस्ट में आप पढ़ सकते है, Dua Shayari In Hindi, Dua Shayari 2 Line के बेहतरीन कलेक्शन, जहा पर आपको पढ़ने को मिलेंगे दुआ पर शायरी हिंदी में..

आज का हमारा पोस्ट ख़ास Dua Shayari पर ही लिखा गया है जहा पर आप पढ़ सकते है दुआ से जुड़े कुछ बेहरीन शेरो-शायरियाँ तो चलिए दोस्तों शुरू करते है। दुआ पर बेहतरीन शायरी हिंदी में.!

Dua Shayari in Hindi

Two Line Shayari in Hindi

 

तेरी मोहब्बत की तलब थी तो हाथ फैला दिए वरना,
हम तो अपनी ज़िन्दगी के लिए भी दुआ नहीं करते।

 

नहीं मांगता ऐ खुदा कि जिंदगी सौ साल की दे,
दे भले चंद लम्हों की लेकिन कमाल की दे।

 

हज़ार बार जो माँगा करो तो क्या हासिल,
दुआ वही है जो दिल से कभी निकलती है।

 

दिल दे तो इस मिज़ाज का परवरदिगार दे,
जो रंज की घड़ी भी ख़ुशी से गुज़ार दे।

 

तकदीर लिखने वाले एक एहसान लिख दे,
मेरी मोहब्बत की तकदीर में मुस्कान लिख दे,
ना मिले जिंदगी में कभी भी दर्द उसको,
चाहे उसकी किस्मत में मेरी जान लिख दे।

 

माँगा करेंगे अब से दुआ हिज्र-ए-यार की,
आखिर को दुश्मनी है दुआ की असर के साथ।

 

फिर से निकलेंगे तलाश-ए-जिंदगी में,
दुआ करना इस बार कोई बेवफा न मिले।

 

भूल न जाऊं माँगना उसे हर नमाज़ के बाद,
यही सोच कर हमने नाम उसका दुआ रक्खा है।

 

लौट आती है हर बार दुआ मेरी खाली,
जाने कितनी ऊँचाई पर खुदा रहता है।

 

दिल दे तो इस मिज़ाज का परवरदिगार दे,
जो रंज की घड़ी भी खुशी से गुजार दे।

 

Dua Shayari in Hindi

तेरी मोहब्बत की तलब थी इसलिए हाथ फैला दिए,
वरना हमने तो अपनी ज़िंदगी की दुआ भी नही माँगी।

 

जाने किस बात पे उस ने मुझे छोड़ दिया है,
मैं तो मुफलिस था किसी की दुआओं की तरह।

 

न जाने किसने पढ़ी है मेरे हक़ में दुआ,
आज तबियत में जरा आराम सा है।

 

जब भी तन्हाई में आपकी याद आती है,
तब मेरे होंठों पर बस एक ही फ़रियाद आती है,
खुदा आपको जिंदगी में हर ख़ुशी दे दे,
क्योंकि हमारी ख़ुशी आपके बाद आती है।

 

तेरे इख्तियार में क्या नहीं, मुझे इस तरह नवाज़ दे,
यूं दुआएं मेरी कुबूल हों, कि मेरे लब पे कोई दुआ न हो।

 

मैंने यही रब से एक गुजारिश की है,
तेरे चेहरे पे हँसी की सिफारिश की है।

 

हजारों ऐब हैं मुझमें नहीं कोई हुनर बेशक,
तू मेरी हर कमी को खूबी में तब्दील कर देना,
एक खारे समंदर सी हस्ती है मेरी मौला,
तू अपनी रहमतों से इसे मीठी झील कर देना।

 

मैं उसकी ज़िंदगी से चला जाऊं यह उसकी दुआ थी,
और उसकी हर दुआ पूरी हो, यह मेरी दुआ थी।

 

ख़ुशी मिली तो कई दर्द मुझसे रूठ गए,
दुआ करो कि मैं फिर से उदास हो जाऊं।

 

वो आ गए मिलने हमसे एक शाम तन्हाई मिटाने,
और हम समझ बैठे इसे अपनी दुआओं का असर।

 

Dua Shayari in Hindi

उल्फत-ए-यार में खुदा से और माँगू क्या,
ये दुआ है कि तू दुआओं का मोहताज न हो।

 

मेरी तलब था एक शख़्स वो जो नहीं मिला तो फिर,
हाथ दुआ से यूँ गिरा भूल गया सवाल भी।

 

दिल में मोहब्बत, और होठों पे मुस्कान रखते है,
तुझे पाने की दुआ, हम दिन रात किया करते है.

 

दुआ तोह दिल से मांगी जाती है,
ज़ुबां से नहीं क़बूल तोह उसकी भी होती है,
जिस की ज़ुबान नहीं होती।

 

दुआओं का रंग नहीं होता मगर,
जब रंग लाती है तो ज़िन्दगी में भी रंग भर जाते हैं.

 

काश कि बचपन में ही तुझे माँग लेते,
हर चीज मिल जाती थी दो आंसू बहाने से।
अब तो दुआएं भी कबूल नहीं होती।

 

हमने चाहा आपको अपने चाहे किसी और को,
हमारी दुआ है की खुदा न करे तुम्हे चाहने वाला,
कभी चाहे किसी और को।

 

फूलो सी प्यारी नै सुबह हो तुम्हारी,
इतनी सी दुआ बस क़ुबूल हो हमारी।

 

दुआ की भगवान से वो हमारे दिल में आये,
हम उनको सपनों में कब तक देखेंगे।

 

Dua Shayari in Hindi

चाँद की चांदनी में एक पालकी बनाई है,
और ये पालकी हमने बड़े प्यार से सजाई है,
दुआ है एहवा तुझसे जरा धीरे चलना,
मेरे यार को बड़ी प्यारी नींद आई है।

 

मुश्किल राहों में जो आसान सफर लगता है,
ये मेरे माँ और बाप की दुआओं का असर लगता है।

खुशी मिली तो कई दर्द मुझसे रूठ गए,
दुआ करो कि मैं फिर से उदास हो जाऊं।

 

लौट आती है हर बार दुआ मेरी खाली,
जाने कितनी ऊँचाई पर खुदा रहता है।

 

जिंदगी में न कोई राह आसान चाहिए ,
न कोई अपनी खास पहचान चाहिए,
बस एक ही दुआ मांगते हैं रोज भगवान से,
आपके चेहरे पे प्यारी सी मुस्कान चाहिए।

 

बस एक दुआ है कि जिन लम्हों में मेरे सभी,
अपने मुस्कुराते हो वो लम्हें कभी खत्म ना हो।

 

जिनकी आप कदर नहीं कर रहे है न,
यकीन माने कुछ लोग उन्हें दुआओं में मांग रहे हैं।

 

सर झुकाने की खूबसूरती भी,
क्या कमाल की होती है, धरती पर सर रखा और,
दुआ आसमान में कुबूल हो जाती हे।

 

हमने ये तो नहीं कहा की,
आपके लिए कोई दुआ ना मांगे,
बस इतना कहते है की दुआ में,
कोइ आपको ना मांगे।

 

जो लोग दूसरो को अपनी, दुआओं में शामलि करते हैं।
खुशीयाँ सब से पहले, उन्हीं के दरवाजे पे दस्तक देती हैं।

 

Dua Shayari in Hindi

दुआएँ मिल जाये यही काफी है,
दवाए तो कीमत अदा करने पर मिल ही जाती हैं।

 

हमसे भी पूछ लो कभी हाल-ए-दिल हमारा,
कभी हम भी कह सकें की दुआ है आपकी।

न जाने कौन मेरे हक़ में दुआ पढ़ता है,
डूबता भी हूं तो समुन्दर उछाल देता है।

 

दुआएँ मिल जाये यही काफी है ,
दवाए तो कीमत अदा करने पर मिल ही जाती हैं ।

 

मिटा दो नाम तक मेरा किताब-ए-ज़िन्दगी से तुम,
मगर पल-पल रुलाएगी… सताएगी कमी मेरी।

 

दुआ क़ुबूल नहीं हो रही तोह,
समझ जाएँ वक़्त आज़माइश का है।

 

दिल से भेजी है दुआ रब से जरुर तकराये गई,
म्हणत कर रहा हूँ न जाने कब तकदीर बदल जाये गई।

 

मैंने वहाँ भी तुझे माँगा था,
जहाँ लोग सिर्फ खुशियाँ माँगा करते हैं।

 

एक ही तो दुआ मांगी है, खुदा आप्से मेरे जान,
की जान हमेहा सलामत रखना।

 

न जाने किसने पढ़ी है मेरे हक़ में दुआ,
आज तबियत में जरा आराम सा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *